हस्तमैथुन क्या है? पुरुष और महिलाओं हस्तमैथुन करने के तरिके? हस्तमैथुन खिलोनो के उपयोग? हस्तमैथुन करने के फायदे व सावधानी?

भारतीय यौन खिलौने के साथ दैनिक उत्तेजना

हस्तमैथुन क्या है?

हस्तमैथुन क्या है?

हस्तमैथुन एक ऐसी क्रिया है जिसमे व्यक्ति बिना किसी साथी के द्वारा खुद ही अपनी यौन इच्छाओ को संतुष्ट करता है|जिसे स्त्री- पुरुष सभी करते है हस्तमैथून करना प्राकृतिक होता है जिसे कभी न कभी सभी लिंग जाती के लोग करते है। हस्तमैथुन युवा ही नहीं बूढ़े - बुजुर्ग लोग भी करते है। हस्तमैथुन करने से योंन आनंद महसूस किया जाता है। शारीरिक अंगो को छुना उनके साथ खेलना हस्तमैथुन क्रिया कहलाती है। महिलाये अपनी योनि को रगड़कर ऊँगली डालकर हस्तमैथुन करती है जबकि पुरुष अपने लिंग को अपने हाथो से हिलाते है। हस्तमैथुन साथी के साथ भी कर सकते है जिससे फोरप्ले भी कहते है। हस्तमैथुन करने के लिए कोई उम्र नहीं देखि जाती लड़के- लड़किया 12 -13 साल की उम्र से हस्तमैथुन करना शुरू कर देते है। महिलाये हस्तमैथुन करने के लिए घरेलू सामग्री सब्जी का उपयोग करती है जैसे गाजर, मूली, खीरा, बेंगन,सेक्सखिलोनो आदि को योनि में डाल कर हस्तमैथुन क्रिया करती है और योंन आनंद का सुख लेती है |

पुरुष के हस्तमैथुन करने के तरिके?

पुरुष के हस्तमैथुन करने के तरिके?

हस्तमैथुन करना प्राकर्तिक तरीका होता है शारारिक अंगो को छूना योंन क्रियाये करना हस्तमैथुन क्रिया होती है। इससे सभी लिंग जाती के लोग करते है। महिला- पुरुष के हस्तमैथुन करने के तरिके - लड़के हस्तमैथुन करना लगभग 12 -13 साल की उम्र: शुरू कर देते है। जिन लोगो की शादी नहीं होती है या जिन पुरुषो के पास कोई साथी नहीं होता, वह हस्तमैथुन कर योंन आनंद प्राप्त कर देते है। लड़के अपने हाथो से लिंग को मुढ़ी में पकड़ कर हिलाते है लिंग को तब तक हिलाते है ऊपर निचे करते है। जब तक उनकी योंन तृप्ति शांत नहीं होती उनके लिंग से वीर्य बहार निकलने के बाद लिंग को हिलना बंद कर देते है। लड़के का हस्तमैथुन करना मुठ मरना भी कहे सकते है । हस्तमैथुन लगभग सभी लड़के करते है। दिमाग में जब योंन के बारे में सोचना या कोई योंन क्रियाओ को जब देखते है तो शरीर में अपने-आप इच्छा उत्पन्न होने लगती है जिससे रोकपाना लड़को के लिए कभी कभी नामुमकिन हो जाती है तब हस्तमैथुन करके अपनी योंन इच्छा को पूरी करते है। हस्तमैथुन करने के लिए पुरुष सेक्स खिलोनो का भी उपयोग करते है जो उन्हें महिला की योनि की तरह सेक्स का सुख देती है|महिलाए और पुरुष दोनों ही सामान तौर पर अपनी उत्तेजना को शांत करने के लिए हस्थमैथुन करते है| समलैगिंग जोड़े हस्तमैथुन कर एक दूसरे की उत्तेजना बढ़ाते है। संतुलित हस्थमैथुन से शारीरिक और मानसिक फायदे होते है|

महिलाओं के हस्तमैथुन करने के तरिके?

महिलाओं के हस्तमैथुन करने के तरिके?

लड़किया हस्तमैथुन 13 -14 साल की उम्र से शुरू कर देती है। लड़किया अपनी इच्छा किसी भी जाहिर नहीं करती है। लड़किया अपनी योनि को रगड़कर अपने हाथो की उंगलिया डालकर हसतेमथुन करती है। कई लड़किया पेन पैंसिल सब्जी आदि को अपनी योनि में डालकर हस्तमैथुन करती है। कई महिलाये सेक्स खिलोने का भी इस्तेमाल करती है। ज्यादातर महिलाये हस्तमैथुन कर के ही अपनी इच्छा पूरी करती है। कई महिलाये अपनी योनि के अंदर तक ऊँगली या वस्तु डाल लेती है। योनि में जी स्पाट के स्थान तक महिलाये डालना पसंद करती है, इसके लिए वे वाइब्रेटर अथवा डिल्डो का सहारा भी लेती हैं।महिलाये हस्तमैथुन कर के ही अपनी योंन इच्छाओ को पूरी करती है जो महिलाये सेक्स के दौरान अपने साथी के साथ संतुष्ट नहीं होती है वह अकेले में सेक्स खिलोनो का उपयोग कर अपनी योंन संतुष्टि प्राप्त करती है। ज्यादातर महिलाये सेक्स खिलोनो का ही सहारा लेकर अपनी इच्छाओ की पूर्ति करती है।

हस्तमैथुन खिलोनो के उपयोग?

हस्तमैथुन खिलोनो के उपयोग?

हस्तमैथुन करना योंन कामुक भावना पर काबू पाना होता है हस्तमैथुन करने के लिए सेक्स खिलोनो का भी सहारा लिया जा सकता है।भारत में सेक्स खिलोनो काफी प्रचीन है पुराने समय में लोग योन संतुष्टि के लिए कई प्रकार की वास्तु का उपयोग करते थे| महिलाओं व पुरुषो के लिए हस्तमैथुन करने के लिए कई प्रकार के हस्तमैथुन खिलोनो उपलब्ध है। जिनका उपयोग कर योंन कामुक भावना को दूर किया जा सकता है। महिलाये डिलडो, वाइब्रेट खिलोनो का उपयोग कर कर योनि में जी स्पोर्ट से चरम सुख की प्राप्ति करती है। महिलाओं के लिए खास वाइब्रेट हस्तमैथुन खिलोने है जो योनि में जाकर कम्पन्न करता है,योनि में घर्षण बढ़ाते है। हस्तमैथुन खिलोने योंन इच्छाओ की पूर्ति के साथ साथ महिलाओं की योनि में आराम देती है।

पुरुष सेक्स खिलोनो का उपयोग कर अपने शरीर आनंद और और सेक्स का सुख प्राप्त कर सकते है। पुरुषो के लिए मेल मास्टबूटेर, मसाजर, कॉक रिंग आदि कई सेक्स खिलोनो है जिनका उपयोग अकेले में कर सकते है। जिन पुरुषो के पास सेक्स करने के लिए कोई साथी नहीं होता वह खिलोनो का उपयोग कर अपनी इच्छा को पूरी कर सकते है। साथी के साथ हस्तमैथुन करने से मानसिक तनाव दूर होता है, साथी के साथ बहेतर ढंग से सेक्स करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा ले सकते है। इसे साथी की उत्तेजना बढ़ती है। जो महिला- पुरुष सेक्स से खुश नहीं होते है वह हस्तमैथुन का उपयोग कर एक दूसरे को खुश कर सकते है खिलोनो से उत्तेजना बढ़ा सकते है, गुदा खिलोनो का इस्तेमाल साथी के साथ गुदा मैथुन कर सकते है। इससे दोनों साथी सेक्स में दिलचस्पी बढ़ा कर दोनों एक दूसरे को संतुष्ट कर सकते है।

हस्तमैथुन करने के फायदे?

हस्तमैथुन करने के फायदे?

हस्तमैथुन करने से मानसिक तनाव दूर होता है। शरीर को आराम मिलता है। हस्तमैथुन करने के बाद नींद अच्छी आती है। बिना सेक्स किये योंन आनंद लिया जा सकता है। हस्तमैथुन करने से शरीर की इच्छाओ को समझने का मौका मिलता है। माहवारी के दौरान महिलाओं की पीड़ा काम होती है। हस्तमैथुन करने से योंन तनाव दूर होता है। इससे यौन तनाव में कमी आती है क्योंकि इसे करके आदमी अपनी संतुष्टि कर लेता है फलसवरूप उसके मन मे किसी प्रकार की कोई यौन इच्छा नही रहती।

हस्तमैथुन करते समय सावधानी?

हस्तमैथुन करते समय सावधानी?

अपनी कामुकता पर काबू पाने का एक सामान्य तरीका है। ज्यादातर लोग हस्तमैथुन को गलत या नुकसानदायक समझते है।हस्तमैथुन अपने आप शरीर को नुक्सान नहीं पहुंचा पता। सावधानी से हसतेमथुन नहीं करने पे नुक्सान हो जाता है। कई लोग ऐसे होते है जो जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन करने लग जाते है, जिस कारण उनका वीर्य से पहले निकलने वाला तरल पानी उनके लिंग की मासपेशियों में चला जाता है. पुरुष जब लिंग को ज्यादा कस कर पकड़ लेते है, तो लिंग दर्द होने की समस्या हो जाती है।कई लिंग में सूजन का हो जाती है।

-पुरुषो को लिंग को ज्यादा कस कर नहीं पकड़ना नहीं चाहिए।

- ज्यादा तेजी से लिंग को नहीं हिलना चाहिए|

- खिलोनो का उपयोग करते समय उनकी सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

कई महिलाये हस्तमैथुन करते समय सावधानी नहीं रखती जिस कारण उन्हें नुकसान हो जाता है। महिलाये हस्तमैथुन करते समय अपने नाख़ून से योनि में घाव कर लेती है। कई बार कोई नुकीली चीज़ को अनादर डालने से योनि में चोट लग जाति है। कई महिलाये मोमबत्ती, लकड़ी सब्जी आदि का उपयोग करती है जो कई बार उनकी योनि में टूट जाती है जिसे उन्हें कई समस्याओ का सामना करना पढ़ सकता है। हस्तमैथुन करते समय खिलोनो को बिना साफ़ किये उपयोग में लेने से संक्रमण होने के खतरा हो सकता है।

- महिलाओं को अपने हाथो को साफ़ और नाख़ून काट कर रखना चाहिए।

- हस्तमैथुन करते समय मोमबत्ती या कोई भी सब्जी का उपयोग नहीं करना चाहिए।

- वाइब्रेटर खिलोनो का उपयोग करते समय कम -तेजी का ध्यान रखना चाहिए।

- सेक्स खिलोनो पर कंडोम का उपयोग कर लेना चाहिए।

- सेक्स खिलौना का उपयोग में लेने से पहले और बाद में सफाई करनी चाहिए ।