भारतीय यौन खिलौना, लोकप्रिय तरीके से क्रय विधि से खिलौना | भारतीय यौन खिलौने के साथ दैनिक उत्तेजना|

भारतीय यौन खिलौना, लोकप्रिय तरीके से क्रय विधि से खिलौना|भारत में लोकप्रिय सेक्स के खिलौने|

भारतीय यौन खिलौने के साथ दैनिक उत्तेजना

वहां किस तरह का भारतीय सेक्स खिलौना है?

वहां किस तरह का भारतीय सेक्स खिलौना है?

भारत में सेक्स खिलोनो का इतिहास बहुत ही प्राचीन है। भारतीय लोग प्राचीन काल से ही भारतीय सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल करते आये है। परन्तु भारत में सेक्स को गलत नजरिये से देखते है और सेक्स खिलोनो को गलत मानते है। भले ही सेक्स खिलोनो को भारत में गलत मानते है परन्तु फिर भी भारतीय लोग खिलोनो का इस्तेमाल करते है। भारत में सेक्स खिलोने अलग अलग प्रकार के उपलब्ध है।महिलाओं के लिए अलग खिलोने होते है, पुरषो के लिए अलग खिलोने होते है।भारत में सेक्स खिलोनो को काफी पसंद किया जाता है, सेक्स खिलोने लोग अपनी पसंद से खरीदते है जैसे की महिलाओं में डिल्डो,मसाजर और लुब काफी लोकप्रय है। स्त्री,पुरुष अपने पसंदीदा खिलोनो का इस्तेमाल करते है। विदेशो की तरह भारत में कई खिलोने लोकप्रिय है जैसे लिंग के आकर के खिलोने,हस्तमैथुन के खिलोने ,पुरुषो के लिंग के खिलोने ,महिलाओं के योनि के आनंद के लिए खिलोने ,गुदा के आनंद के लिए खिलोने इत्यादि ।

विश्व सेक्स के खिलौने और भारतीय सेक्स खिलौने के बीच अंतर|

विश्व सेक्स के खिलौने और भारतीय सेक्स खिलौने के बीच अंतर

विदेशो में सेक्स खिलोने बाजारों में आसानी से उपलब्ध हो जाते है। विदेशो में सेक्स खिलोनो पर कोई पाबंद नहीं है वहा पर आसानी से सेक्स खिलोने खरीदे,बचे वे इस्तेमाल किये जा सकते है, विदेशो में सेक्स खिलोनो बनाया वे बेचा जाता है।

भारत में सेक्स से सम्बंधित सभी चीज़ो को गलत माना जाता है और ये अपराध की श्रेणी में आता है। भारत में सेक्स खिलोनो पर पाबंद है,इसके लिए सजा का प्रावधान भी है। लोग खुलेआम सेक्स खिलोनो को बेच नहीं सकते है, भारत में लोग चोरी छिपे सेक्स खिलोनो की खरीदारी करते है। भारत के कई शहरों में चीन,जापान व पश्चिम देसो में बने वाइब्रेटर, डिल्डो और सेक्स डॉल आदि बेचे जाते हैं। आजकल भारतीय लोग ऑनलाइन ईकॉमर्स वेबसाइटों से खरीदारी करने को ज्यादा तवज्जो देते है ,क्यों की इसमें उनकी पहचान उजागर नहीं होती ,और अलग अलग प्रकार के खिलोने खरीदने में भी आसानी होती है ।

भारत में सेक्स खिलौना के परिस्थितियों|

भारत में सेक्स खिलौना के परिस्थितियों

भारत में वयस्क खिलोनो को काफी पसंद किया जाता है,इनमे महिलाओं के सेक्स खिलोने लोगो द्वारा ज्यादा मात्रा में पसंद किये जाते है। स्त्री,पुरुष अपने पसंदीदा खिलोनो का इस्तेमाल करते है। विदेशो की तरह भारत में कई खिलोने लोकप्रिय है। विश्व सेक्स खिलोने और भारत के सेक्स खिलोनो में अंतर,भारत में सेक्स को गलत माना जाता है। भारत में सेक्स खिलौनों और सेक्स से जुड़ी दूसरी चीजों को न तो खुलेआम खरीदा बेचा जाता है और न ही इनको बेचने की अनुमति है. इस तरह के कारोबार को अपराध की श्रेणी में रखा गया है सेक्स से जुड़े खिलौने, उपकरण और दूसरे सामानों की भारी मांग है. हालांकि इन्हें पसंद करने वाले लोगों की दिक्कत यह है कि इस तरह के सामान आसानी से नहीं मिल पाते, भारतीय लोग सामने न आकर चोरी छिपे खिलोनो को खरीदते है।भारत में विदेशो की तरह सेक्स खिलोने खोले आम नहीं मिलते। परन्तु फिर सेक्स खिलोनो पर प्रतिबंध होने के बावजूद लोग इन्हे खरीदते है, और इस्तेमाल करते है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में महिलाये भी सेक्स खिलोने खरीदती है।महिला खरीदारों की संख्या की कमी नहीं है वे एरोटिक लॉन्जिरी, लुब्रीकेंट्स और लोशन काफी खरीदती है भारत में ये काफी लोकप्रिय है.। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 13% महिलाएं आर्गेनिक सेक्स खिलोने का उपयोग करती हैं।

क्या भारतीय लोग सेक्स के खिलौने का उपयोग करते हैं?

क्या भारतीय लोग सेक्स के खिलौने का उपयोग करते हैं?

भारत में सेक्स खिलोने पर पाबंद लगा हुआ है, परन्तु फिर भी लोग इसे बचते और खरीदते है। भारतीय लोग सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल काफी करते है। विदेशो की भांति भारत में सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल किया जाता है। गैरकानूनी होने के बावजूद भारतीय लोग सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल करते है। भारत में प्राचीन काल से सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल होता आया है। प्राचीन काल में लोग लकड़ी,तांबे,लोहे,मिटी आदि सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल कर अपनी योन इच्छाओं की पूर्ति करते थे।आज भी भारत में सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल किया जाता है। भारत में महिला,पुरुष, वे युवा पीढ़ी सभी अलग अलग खिलोनो का उपयोग करते है।भारत के कई शहरों में चीन में बने वाइब्रेटर, डिल्डो और फेटिश क्लॉथ्स बेचे जाते हैं. भारत में विदेशी सेक्स खिलोनो को खरीद कर उनका इस्तेमाल किया जाता है। भारतीय महिलाये सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल कर के अपनी योन इच्छाओं की कमी पूरी करती है। उसी प्रकार पुरुष भी सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल कर के सेक्स संतुष्टि प्राप्त करते है।

क्या भारत में लोकप्रिय सेक्स के खिलौने हैं?

क्या भारत में लोकप्रिय सेक्स के खिलौने हैं?

भारत में सेक्स खिलोनो को काफी पसंद किया जाता है, सेक्स खिलोने लोग अपनी पसंद से खरीदते है। स्त्री,पुरुष अपने पसंदीदा खिलोनो का इस्तेमाल करते है। विदेशो की तरह भारत में कई खिलोने लोकप्रिय है भारत में महिला-पुरुष आदि के कई खिलोने उपलब्ध है बाजार में सेक्स उत्पादों की किस्में उपलब्ध हैं। विभिन्न प्रकार के सेक्स के खिलौने पैठ खिलौने, गुदा खिलौने, निप्पल खिलौने, लिंग खिलौने आदि ये खिलौने विभिन्न उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाता है। कुछ सेक्स के खिलौने का उपयोग केवल आंतरिक उत्तेजना के लिए किया जाता है, कुछ यौन खिलौने का उपयोग बाहरी उत्तेजना के लिए किया जाता है, जबकि कुछ सेक्स खिलौने आंतरिक और बाहरी उत्तेजना दोनों के लिए उपयोग की जाती हैं। विभिन प्रकार के महिलाओं के सेक्स खिलोने ,पुरुषो के सेक्स खिलोने और युगलो के सेक्स खिलोने बाजार में उपलब्ध है ।

जैसे-कंडोम, कॉक रिंग, बुलट, डिल्डो, योनि खिलोने,लिंग खिलोने आदि। पुरुष कई प्रकार के खिलोनो का इस्तेमाल करते है जैसे कंडोम- कंडोम कई प्रकार के होते है ये अलग अलग फिलवर में बाजार में उपलब्ध होते है जैसे-,चॉकलेट,स्ट्रॉबेर्री , बनाना ,बबल गम, वेनीला, कॉफी आदि, कई प्रकार के मिलते हे। कंडोम कई प्रकार के होते हे बड़े छोटे पतले लिंग के आकर के कुछ कॉन्डम में ज्यादा चिकनाई होती हे कुछ में कम ,कुछ कंडोम सिंपल होते है कुछ कंडोम में दाने वे धारिया होती हे, पुरुष वे महिलाये अपनी पसंद के कंडोम का उपयोग करते है। भारत में युवा पीढ़ी "18 से 23 वर्ष के लड़के-लड़कियों में "लिप-बाम" काफी लोकप्रिय है. ये बाम चुम्बन को मजेदार बनाते हैं। भारत में महिला खरीदारों की संख्या भी कम नहीं है. महिलाओं के बीच एरोटिक लॉन्जिरी, लुब्रीकेंट्स और लोशन काफी लोकप्रिय है. कंडोम बनाने वाली कंपनी ड्यूरेक्स की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 13% महिलाएं आर्गेनिक सेक्स खिलोनो का उपयोग करती हैं.भारत में कई लोग घरेलू चीजों को अप्राकृतिक इस्तेमाल करते हैं। भारत में लोग ऑनलाइन दवरा सेक्स खिलोनो की खरीदारी करते है वे पसंदीदा खिलोनो का चुनाव कर उनका इस्तेमाल कर योन सुख प्राप्त करते है। भारतीय लोग यौन क्रिया या हस्तमैथुन के दौरान सेक्स के खिलौने का इस्तेमाल करते हैं। भारतीय लोग प्रकृति में शर्मीली हैं इसलिए वे दुकान से सेक्स के खिलौने नहीं खरीदते हैं। अधिकांश भारतीय लोग सेक्स स्टोर को ऑनलाइन स्टोर से खरीदते हैं। कई ई-कॉमर्स साइटें हैं जो सेक्स के खिलौने की किस्म प्रदान करती हैं। ये ई-कॉमर्स साइटें अमेज़ॅन, फ्लिप कार्ट आदि हैं |

भारत में सेक्स के खिलौने कैसे खरीदें

भारत में सेक्स के खिलौने कैसे खरीदें

भारत में सेक्स खिलोनो पर प्रतिबंध लगा हुआ है,परन्तु फिर इसको खरीदते है।लोग कई तरीको से खरीदते है। भारतीय लोग शर्मीले किस्म के होते है। कुछ लोग सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल तो करते है परन्तु उन्हें खिलोने खरीदे समय शर्म महसूस होती है। वे लोग चोरी छिपे खिलोने खरीदते है। भारत में सेक्स खिलोने सरे आम दुकानों बाजारों में नहीं मिलते है। परन्तु भारत में कई शहरों में सेक्स खिलोने उपलब्ध होते है। जैसे दिल्ली, मुंबई, गुड़गाव, हरियाणा,फरीदाबाद,आदि इन शहरों पर सेक्स खिलोने बेचे जाते है। दिल्ली के पालिका बाजार और मुंबई के क्राफर्ड मार्केट या मनीष मार्केट जैसे कुछ इलाकों में इस तरह के सामान चोरी छिपे बेचे जाते हैं.| गुडगाँव जैसे शहर में जहां इंटरनेट और बड़े शोरूमों में सेक्स खिलोने उपलब्ध हैं, वहीं सोहना और फरीदाबाद जैसे शहरों में दिल्ली से लाकर बड़ी तादाद में ऐसे खिलौने बेचे जा रहे हैं।

हरियाणा का शायद ही कोई शहर ऐसा हो जहां सेक्स के ये खिलौने नहीं बिक रहे हों इन्टरनेट पर कई ऐसी वेबसाइट मौजूद हैं, जिस पर क्लिक कर ये खिलौने आसानी से मंगाए जा सकते हैं।

कभी-कभार सेक्स ट्वॉयज को अमेरिका या जर्मनी से भी मंगवाया जाता है। ये सेक्स ट्वॉय महंगे होने और कानून की सख्ती की वजह से ग्राहक द्वारा एडवांस पेमेंट करने के बाद ही मंगाए जाते हैं। भारत में 70 प्रतिशत सेक्स खिलोने चीन जापान से आते हैं। भारत में भी खिलोनो की मांग में काफी वृद्धि हुई है।वर्ष 2016 में भारत में यौन चीजों की मांग में काफी वृद्धि हुई है, जबकि 2017 में 32% की वृद्धि हुई है। 2020 में यौन चीजों की अपेक्षित मांग आज की तुलना में 81% अधिक है।