शुरुवाती हस्तमैथुन सेक्स खिलोने क्या है, शुरुवाती पुरुष और महिला हस्तमैथुन क्या है, शुरुवाती हस्तमैथुन खिलौना का उपयोग?

भारतीय यौन खिलौने के साथ दैनिक उत्तेजना

शुरुवाती हस्तमैथुन सेक्स खिलोने क्या है?

>शुरुवाती हस्तमैथुन सेक्स खिलोने क्या है?

मानव के जीवन के विभिन्न कार्यों की तरह ही सेक्स भी जीवन की एक अहम क्रिया है। इस क्रिया को कुछ लोग गलत समझते हैं, तो कुछ इसको जीवन की एक सामान्य प्रक्रिया मानते हैं। जीवन के कई पड़ावों में सभी को कई कार्यों को पूरा करना होता है। इसी तरह सेक्स भी हमारे सामान्य शरीर की एक आवश्यकता होती है। आज सामाज व बाजार में सेक्स की अनुभूति को पूरा करने के लिए कई तरह के विकल्प मौजूद हैं। जिनमें से एक है सेक्स खिलौने। महिलाओं और पुरुषों को यौन संतुष्टि प्रदान करने व सेक्स क्रिया के आनंद को बढ़ाने के लिए इस तरह के खिलौनों की मदद ली जा सकती है। यह पुरुष व महिला के जननांगों की तरह होते हैं, जिनका प्रयोग वास्तविक सेक्स की तरह ही आनंद देता हैं।यह कंपनशील व अकंपनशील दोनों ही तरह के होते हैं। इनको आप अकेले में या अपने साथी के साथ सेक्स करते समय इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ वर्षों पहले इस तरह के खिलौनों को इस्तेमाल करने वाले लोगों को सनकी या मानसिक विकार से ग्रस्त समझा जाता था। लेकिन समय के साथ-साथ लोगों के विचारों में भी बदलाव आया है। बेशक सेक्स खिलौनों का बाजार हजारों करोड़ का हो, परंतु आज भी अपने देश में इसको खरीदने के लिए लोग संकोच करते हैं।

शुरुवाती पुरुष हस्तमैथुन सेक्स खिलोने?

 शुरुवाती पुरुष हस्तमैथुन सेक्स खिलोने?

हस्तमैथुन क्या होता है शायद यह किसी को भी बताने की आवश्‍यकता नहीं है। लेकिन लोग ये जरूर जानना चाहते है की लड़के हस्तमैथुन कैसे करते हैं, हैंड प्रैक्टिस करने का तरीका क्या है, हस्तमैथुन या हस्‍तमैथुन यौन क्रिया का एक अभिन्‍न अंग है। अक्‍सर लोगों के मन में विचार आता है कि हस्‍तमैथुन उनके लिए फायदेमंद है या नुकसानदायक। लगभग हर युवा पुरुष और महिलाएं यह जानना चाहते हैं। अक्‍सर देखा जाता है कि हस्‍तमैथुन को घृणा की द्रष्टि से देखा जाता है। लेकिन यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत अच्‍छा होता है। यह एक प्रकार का व्यायाम होता है। जब आपका शरीर मेहनत करता है तो शरीर में एंडोर्फिन जारी होता है जो सकारात्‍मक संवेदना को ट्रिगर कर सकता है।हस्‍तमैथुन न केवल आपके शरीर को सक्रिय करने बल्कि तनाव से छुटकारा पाने, नींद में सुधार करने और तनाव मुक्‍त यौन सुख के लिए सुरक्षित तरीका है। शुरुवाती पुरुषो के लिए ऐसे कई हस्तमैथुन सेक्स खिलोने उपलब्ध है जिनका उपयोग आसनी से कर सकते है| हमेशा हस्तमैथुन करने के तरीके को बदलने की सबसे अधिक संभावना है।यदि आप अपनी खुशी को अधिकतम करने और मजबूत ऑर्गेज्म पाने के लिए तकनीकों में रुचि रखते हैं, तो खिलोने की योनि के साथ हस्तमैथुन आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।एक प्लास्टिक से बनी योनि का उपयोग तीव्र उत्तेजना और आपके यौन शक्ति के लिए एक चुनौती का सही संयोजन प्रदान करती है।ऐसी कई कंपनियां हैं जो प्लास्टिक योनि या पुरुष यौन खिलौने बनाती हैं।शुरुवाती पुरुषों के लिए सेक्स खिलोनो में सबसे ज्यादा महिलाओं की कृत्रिम योनि के आकार के खिलौनें प्रचलित है। इसको पॉकेट पुसीस या पुरुषों का हस्तमैथुन करने वाला भी कहा जाता है। इसे मुलायम पदार्थों से बनाया जाता है, ताकि यह पुरुषों को योनि की तरह ही एहसास कराए। पुरुषों के हस्तमैथुन के लिए तैयार खिलौनों को कई आकार में बनाया जाता है। इनको बनाते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाता है कि यह आसानी से साफ हो सकें|

शुरुवाती महिला हस्तमैथुन क्या है?

शुरुवाती महिला हस्तमैथुन क्या है?

यौन क्रिया के दौरान महिला हस्तमैथुन सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल महिलाएं करती हैं। जब महिला अपने साथी के साथ नहीं होते हैं और जब आपका कोई साथी नहीं होता है तो महिला हस्तमैथुन सेक्स खिलौने का उपयोग कर उत्तेजना और आनंद प्रदान करती हैं हस्तमैथुन के लिए महिलाएँ विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग कर सकती हैं क्योंकि हस्तमैथुन करने वाले सभी खिलौने अलग-अलग उद्देश्य से बनाए जाते हैं। सबसे पहले अपने आपको साफ रखना है अपने हस्तमैथुन को धोने या साफ करने की आवश्यकता है। खिलोने को साफ़ करने के लिए सेक्स खिलोने क्लीनर या किसी लिक्विड का इस्तेमाल कर सकते हैं। सफाई के बाद आप एक स्नेहक चुनें जो आपके सेक्स खिलोने के लिए सुरक्षित हो और फिर इसे अपने सेक्स खिलोने पर अच्छे से लगाएं। वाइबे्रटर्स- वाइबे्रटर एक मसाजर की तरह काम करने वाला सेक्स खिलौना है जो महिलाओं के भगशेप भाग को उत्तेजित करता है। यह योनि की मसाज भी करता है। साथ ही इसका असीम आनन्द और सनसनी शरीर के अन्य यौन भागों को उत्तेजित कर देती है। मसाजर सेक्स खिलौने- महिलाएं उन मसाजरों का बाहरी और आंतरिक रूप से उपयोग कर सकती हैं, यह सेक्स लाइफ को बेहतर बनाते है सभी मालिश विभिन्न प्रकार की कंपन गति के साथ आती हैं, कुछ उच्च कंपन गति के साथ आती हैं और कुछ निम्न कंपन गति के साथ होती हैं। तो अगर आप शुरुआत कर रहे हैं तो आप धीमी गति वाले ग्रामीणों के साथ शुरू कर सकते हैं। विभिन्न प्रकार के मालिश उपलब्ध हैं|

शुरुवाती हस्तमैथुन खिलौना का उपयोग ?

शुरुवाती हस्तमैथुन खिलौना का उपयोग?

शुरुआती और अनुभवी दोनों लोगों को हस्तमैथुन प्रक्रिया को अधिक उत्साह और प्रसन्न करने के लिए हस्तमैथुन करने वाले खिलौनों का उपयोग करते समय निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना चाहिए। किसी भी हस्तमैथुन खिलौने का उपयोग करने से पहले उपयोगकर्ता के लिए हस्तमैथुन खिलौने को साफ करना आवश्यक है। सफाई के लिए उपयोगकर्ता पानी, खिलौना क्लीनर और एंटीसेप्टिक तरल का उपयोग कर सकता है। पुरुषों को हस्तमैथुन करने वाले खिलौनों को बाहर से और साथ ही अंदर से कीटाणुओं और जीवाणुओं से मुक्त करने के लिए धोना चाहिए, ताकि हस्तमैथुन के दौरान इससे कोई संक्रमण न हो। यदि पुरुष एक नया हस्तमैथुन खिलौना खरीदते हैं, तो आपको पहले खिलौने को ठीक से धोना चाहिए ताकि उपयोग से पहले अतिरिक्त गंदगी और धूल को हटा दें क्योंकि इसे कारखाने से भेज दिया जाता है, इसलिए संभावना है कि यह गंदा है।अगर पुरुष हस्तमैथुन करने वाले खिलौनों का इस्तेमाल बिना किसी व्यक्तिगत स्नेहक के करते हैं तो इस बात की संभावना है कि उपयोगकर्ता को दर्द होता है और निश्चित रूप से उसे वास्तविक आनंद महसूस नहीं होता है। इसलिए उपयोगकर्ता के लिए हस्तमैथुन प्रक्रिया से पहले स्नेहक की अच्छी गुणवत्ता का उपयोग करना महत्वपूर्ण है। पुरुष हस्तमैथुन खिलौने की आंतरिक सतह पर और लिंग पर भी चिकनाई लगा सकते हैं। व्यक्तिगत स्नेहक लोगों को घर्षण को कम करने और सतह को फिसलन बनाने में मदद करता है ताकि वह दर्द महसूस न करे और अपने यौन कार्य का आनंद ले सके।पुरुष हस्तमैथुन खिलौने की आंतरिक सतह पर और लिंग पर भी चिकनाई लगा सकते हैं। व्यक्तिगत स्नेहक लोगों को घर्षण को कम करने और सतह को फिसलन बनाने में मदद करता है ताकि वह दर्द महसूस न करे और अपने यौन कार्य का आनंद ले सके।अगर हस्तमैथुन करने वाले खिलौनों की आंतरिक आस्तीन सिलिकॉन सामग्री के साथ बनाई जाती है, तो इस मामले में, उपयोगकर्ता को सिलिकॉन आधारित स्नेहक का उपयोग करने से बचना चाहिए क्योंकि सिलिकॉन आधारित स्नेहक सिलिकॉन से बने खिलौनों की सतह को नुकसान पहुंचाता है। हस्थमैथुन करना प्राकृतिक किर्या है। मानसिक तनाव शाररिक समस्या वे शरीर को आनंद महसूस करने का ये प्राकृतिक तरीका है। आजकल लड़के-लड़कियों के सरीर का विकास बहुत तेज़ी से होता है ,इसलिए हस्तमैथुन की आदत बालावस्था से ही पड़ जाती है। नियंत्रित हस्थमैथुन से शरीर पे कोई विपरीत असर नहीं पड़ता है। आजकल हस्तमैथुन के बहुत हस्तमैथुन खिलोने बाजार में उपलब्ध है चाहे महिला हो या पुरुष सभी के लिए सेक्स खिलोना होते है।